भारत के भाल पर मनिका बत्रा का तिलक

राष्ट्रमंडल खेलों में जीते चार पदक श्रीप्रकाश शुक्ला लक्ष्य स्पष्ट हो, कुछ कर गुजरने की तमन्ना हो और प्रयास पूरे मनोयोग से हों तो सफलता जरूर कदम चूमती है। ऐसी खुशी परिवार-कुटुम्ब से लेकर पूरा देश महसूस करता है। सफलता की नई इबारत लिखने वाली मनिका बत्रा इसकी जीवंत मिसाल हैं। गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में एक-दो नहीं पूरे चार पदक लेकर आई भारत की इस बेटी ने सोने, चांदी और कांसे के पदकों से न केवल अपना गला सजाया बल्कि मुल्क के भाल .......

हिमा दास की हिमालयीन सफलता

वह किया जो मिल्खा सिंह और पीटी ऊषा भी नहीं कर पाए श्रीप्रकाश शुक्ला सच कहूं तो मैं एक सपना जी रही हूं। यह शब्द हैं हिमा दास के जिनके जरिए वह असम के एक छोटे से गांव में फुटबॉलर से शुरू होकर एथलेटिक्स में पहली भारतीय महिला विश्व चैम्पियन बनने के अपने सफर को बयां करना चाहती है। नौगांव जिले के कांदुलिमारी गांव के किसान परिवार में जन्मी 18 वर्षीय हिमा 12 जुलाई, गुरुवार को फिनलैंड में आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैम्पियनशिप मे.......

होनहार शूटर ईशा का कमाल

14 साल की उम्र में रोजाना 4 घंटे शूटिंग की प्रैक्टिस और 1 घंटा योग 14 साल की ईशा सिंह के घर में उनका कवर्ड और उनके कमरे की दीवार अच्छी खासी तादाद में मैडल्स से भर गई है। लेकिन ये मैडल्स मेहमानों या ईशा के नए-नए बने प्रशंसकों को दिखाने के लिए नहीं लगाए गए हैं। ये अवॉर्ड्स तो ईशा को याद दिलाते रहते हैं कि यह महज एक शुरुआत है और मंजिल अभी बहुत दूर है। ईशा मीडिया में पहली बार सुर्खियों में तब छाईं थी, जब उन्होंने नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप (2018) में महिला, यूथ और जूनियर तीनों वर्गों में.......

जन्म से नहीं हैं दोनों हाथ, उम्र है 8 और स्विमिंग में मेडल हैं 7, ओलंपिक की तैयारी में जुटा यह होनहा

नई दिल्लीः कहते हैं कि मन में लगन हो तो कोई भी बाधा आपको आपकी मंजिल से दूर नहीं कर सकती. इस बात का जीता जागता उदाहरण है बोस्निया एंड हर्जोगोविना का इस्माइल जुल्फिक. इस्माइल की उम्र महज 8 साल है, लेकिन उसने दुनिया के लिए एक मिसाल पैदा की है. इस्माइल को स्विमिंग का शौक है और उसका यह शौक इतना गहरा है कि एक दिन जरूर इसके कीर्तिमानों की कहानी पूरे विश्व में फैलेगी. जन्म से ही इस्माइल के दोनों हा.......

गोहाना का अजय भारत की जूनियर डेविस कप टीम में शामिल

हरियाणा के गोहाना गांव से टेनिस कोर्ट तक पहुंचे अजय मलिक ने थाईलैंड में होने वाले आगामी एशिया ओसनिया फाइनल क्वालीफाइंग मैचों के लिये भारत की जूनियर डेविस टीम कप में जगह बनायी। अक्तूबर 2016 में फेनेस्टा ओपन में अंडर-14 राष्ट्रीय खिताब जीतने वाले अजय को दिवेश गहलोत और सुशांत डबास के साथ भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिये चुना गया है। टीम में उदित गोगोई रिजर्व सदस्य हैं। चयनकर्ताओं ने अंडर-16 वर्ग की राष्ट्रीय रैंकिंग के आधार पर .......