खिलाड़ियों नहीं खेलनहारों की बपौती हैं खेल मैदान

देश में किसी क्रिकेटर के नाम नहीं है एक भी स्टेडियम  पूर्व प्रधानमंत्रियों के नाम पर 16 स्टेडियम खेलपथ प्रतिनिधि नई दिल्ली। हमारे जनप्रतिनिधि खेलों के विकास की बातें करते हैं लेकिन इससे खिलाड़ियों का भला होने की बजाय राजनीतिज्ञों और नौकरशाहों का ही भला होता है। हमारे देश में क्रिकेट के 53 स्टेडियम हैं लेकिन इनमें से किसी मैदान का नाम किसी क्रिकेटर के नाम पर नहीं है। देश में दो क्रिकेट स्टेडियम ऐसे हैं, जिनके नाम हॉकी खिला.......

दुती चंद और हिमा दास को लड़ा रहा है एथलेटिक्स फेडरेशन

हिमा ने कोई ओलम्पिक या एशियन गेम्स में मेडल नहीं जीता दुती ने पटियाला में किए गए इंतजाम पर भी सवाल उठाए नई दिल्ली। भारत की दो महिला एथलीटों में सर्वश्रेष्ठ कौन का फैसला आज होने वाला है। ग्रांप्री-2 में गुरुवार को भारत की दो चैम्पियन रेसर दुती चंद और हिमा दास पहली बार 100 मीटर और 200 मीटर इवेंट में आमने-सामने होंगी। यह इवेंट पंजाब के पटियाला में नेताजी सुभाष नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स में आयोजित होगा।  दुती चंद 2018 के.......

फर्जी नाम और पहचान पत्र के फेर में फंसे शिवपुरी के दो हॉकी खिलाड़ी

खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया की मेहनत और उम्मीदों पर फेरा जा रहा पानी श्रीप्रकाश शुक्ला ग्वालियर। मध्य प्रदेश में पुश्तैनी खेल हॉकी के समुन्नत विकास और प्रोत्साहन के मामले में देश के सामने नजीर बनीं खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के विधान सभा क्षेत्र शिवपुरी में ही उनकी मेहनत तथा उम्मीदों पर पानी फेरा जा रहा है। शिवपुरी को कृत्रिम हॉकी.......

आओ मध्य प्रदेश में खेलों से खेलवाड़ पर ताली पीटें

किसके लिए हैं 17 एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान? श्रीप्रकाश शुक्ला ग्वालियर। पिछले डेढ़ दशक में खेलों के विकास और खेल आयोजनों पर कई अरब रुपये खर्च करने वाले मध्य प्रदेश में सब कुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है। जिस प्रदेश में 17 एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान हों, सरकार नेशनल खेलों के आयोजन का दम्भ भरती हो वहां ओलम्पिक साल में राज्यस्तरीय हॉकी .......

भारत में खेल संगठन बने चारागाह!

खिलाड़ियों पर अनाड़ियों की दबिश श्रीप्रकाश शुक्ला नई दिल्ली। विविध खेल मंचों पर खेलों के सम्बन्ध में कही जाने वाली चिकनी-चुपड़ी बातें खिलाड़ियों को छोड़कर बाकी सभी को अच्छी लगती हैं। खेलों को भाईचारे का मूलमंत्र कहा जाता है लेकिन भारतीय ओलम्पिक संघ सहित देशभर के खेल संगठनों पर नजर डालें तो यह बात निरा असत्य है। संगठन पदाधिकारी बातें तो सद्भाव .......

खेलों का मजाक मत बनाओ यारों!

खेल प्रशिक्षकों और शारीरिक शिक्षकों की कौन उठाएगा आवाज? श्रीप्रकाश शुक्ला नई दिल्ली। सरकार, खेल संगठन और खेलनहारों का त्रिगुट आजादी के बाद से ही खेलों और खिलाड़ियों का भाग्य विधाता बन पैसे को आग लगा रहा है। अब इस गोरखधंधे में कुछ स्वनामधन्य स्वैच्छिक खेल संस्थाएं भी शामिल हो चुकी हैं। इन संस्थाओं का उद्देश्य खेलों की भलाई कम अ.......

बाक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने दागी को सौंपी खजाने की चाबी

मध्यप्रदेश बाक्सिंग संघ में अनाड़ियों का कब्जा 42 साल में दर्जन भर जिलों में ही हुआ खेल का विकास श्रीप्रकाश शुक्ला नई दिल्ली। हाल ही गुरुग्राम में जोड़-तोड़ से हुए बाक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के चुनावों में अजय सिंह पुनः अध्यक्ष चुने गए तो सचिव की आसंदी पर हेमंत कुमार कलिता बिराजमान हुए। सबस.......

ओलम्पिक न हुए तो...।

80 फीसदी जापानी नहीं चाहते कि ओलम्पिक खेल हों श्रीप्रकाश शुक्ला जापान मुश्किलों का सबसे बड़ा लड़ाका है। 57 साल पहले वह खेलों के महाकुम्भ ओलम्पिक का शानदार आयोजन कर दुनिया को यह साबित कर चुका है। कोरोना संक्रमण से जहां दुनिया हलाकान है, हर देश की आर्थिक स्थिति चरमरा सी गई है, ऐसे नाजुक दौर में भी जापान बहुत खर्चीले ओलम्पिक खेलों के आयोजन को तैयार है। यदि ओलम्पि.......

टीम इंडिया में समस्या चोट की नहीं, फिटनेस की है

हमारा फिटनेस सिस्टम ही दशकों पीछे मुम्बई। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खिलाड़ियों की चोट ने लोगों को असमंजस में डाला, लेकिन यह चिंताजनक नहीं है, जैसा दिख रहा है। सभी चोट खराब फिटनेस मैनेजमेंट के कारण नहीं हैं। पहले ईशांत शर्मा और रोहित शर्मा पर आते हैं। दोनों दौरे के पहले से चोटिल थे। ईशांत फिट थे, लेकिन गेंदबाजी के लिए फिट नहीं थे। फिटनेस दो तरह की हाेती है। मैच फिटनेस और सामान्य फिटनेस। इशांत टेस्ट में 25-30 ओवर फेंकने के लिए फिट नहीं थे। वे.......

भारतीयों की गाबा में बल्ले से बल्ले-बल्ले

श्रीप्रकाश शुक्ला क्रिकेट को गाली देने वालों के लिए यह एक सबक है। ऐसे वक्त में जब टीम में रेगुलर कप्तान न हो, आधे खिलाड़ी चोटिल हों, शृंखला के पहले मैच में भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे न्यूनतम स्कोर पर टीम हारी हो, टीम की कोशिश मैच बचाने की हो और टीम परदेश की तूफानी पिचों पर जीत छीन ले तो निस्संदेह यह चमत्कार जैसा ही है। चमत्कार किया ऐसे खिलाड़ियों ने, जिन्हें मुख्य खिलाड़ियों के चोटिल होने के कारण टीम में जगह मिली थी। सही मायनों में यह जी.......